What Is Inductor In Hindi: इंडक्टर क्या है, परिभाषा, प्रकार, उपयोग

4 Min Read
What Is Inductor

Inductor एक प्रकार का passive elements है जो इलेक्ट्रिक ऊर्जा को मैग्नेटिक रूप में स्टोर करता है। इसकी बनावट एक कुंडली के समान होती है। इसका मात्रक हेनरी है और इसे L से दर्शाते है। आजकल हर छोटे बड़े इलेक्ट्रॉनिक्स कंपोनेंट में Inductor देखने को मिल जाते है। अब यह काम कैसे करता है।

जब inductor magnetic field में ऊर्जा का स्टोर करता है तो यह उसमे बहने वाली धारा का विरोध क्यों करता है। यह कितने प्रकार के होते है। आज इस लेख में inductor के बारे में विस्तार से जानेंगे। इंडक्टर के बारे में पूरी जानकारी के लिए इस लेख को अंत तक पढ़िए।

What Is Inductor In Hindi Working

जब इस कुंडली के सिरों पर धारा प्रवाहित करते है तो इसके चारो ओर एक मैग्नेटिक फील्ड बन जाता है। Magnetic field के बनने से कुंडली में flux उत्पन हो जाता है। जब फ्लक्स में कोई परवर्तन होता है तो उसमे induced EMF उत्पन हो जाता है।

इस emf के कारण ही उसी कुंडली में एक प्रेरित धारा प्रवाहित होने लगती है जो मुख्य धारा का विरोध करती है। इसे आप आसान शब्दों में समझ सकते है कि यह मैग्नेटिक रूप में ऊर्जा को स्टोर करता है। Inductor का Magnet Field में धारा के स्टोर करने की क्षमता inductance कहलाती है। इसका मात्रक हेनरी होता है।

Inductor की बनावट कैसी होती है

इंडक्टर की संरचना गोलाकार कुंडली की तरह होती है।इंडक्टर को समान पतले तार को कोर पर मोड़कर बनाया जाता है। इसे हम जलेवी की तरह मोड़ते जाते है और इसे एक गोलाकार कुंडली का आकार दे दिया जाता है। कोर सिरेमिक मेटेरियल, आयरन या air type हो सकती है।

Types of Inductor In Hindi – इंडक्टर कितने प्रकार के होते है


कोर के आधार पर इंडक्टर तीन प्रकार के होते है। आजकल जिनका उपयोग अधिक हो रहा है।

Air Core Inductor

Air core inductor की बनावट सिरेमिक मेटेरियल से होती है। इसे air core type इंडक्टर कहते है। कोर बनाने में सिरेमिक मेटेरियल के उपयोग होने से इसमें कोई कोर हानि नहीं होती है। इसका उपयोग उस जगह किया जाता है जहां high frequency और low inductance की जरूरत होती है। इस inductor का क्वालिटी फैक्टर अन्य की तुलना में अधिक होता है। इसकी वजह कोर के रूप में उपयोग होने वाला सिरेमिक मेटेरियल है।

Iron Core Type Inductor

इस inductor की कोर आयरन की बनी होती है। इस प्रकार के इंडक्टर को आयरन की कोर पर वायर लपेटकर कर बनाया जाता है। इस प्रकार के इंडक्टर की inductance बहुत अधिक होती है। इसे ऐसी जगह उपयोग किया जाता है जहा low frequency और high inductance हो।

ferrite Core Type Inductor

इस प्रकार के इंडक्टर को ferrite की कोर पर वायर लपेटकर बनाया जाता है। आजकल इस तरह के इंडक्टर बहुत उपयोग हो रहे है। Ferrite मैटेरियल को आयरन और अन्य को मिलाकर बनाया जाता है। यह एक प्रकार का मिक्सर होता है। इसकी प्रॉपर्टी बड़ जाती है। आजकल आप इन्वर्टर, टीवी में इस इस तरह के इंडक्टर देखते होंगे।

Inductor के उपयोग क्या है

  • इसका उपयोग डिवाइस में एनर्जी को स्टोर करने के लिए।
  • इंडक्शन मोटर में
  • इंडक्टर सेंसर्स बनाने में
  • इसका उपयोग रिले बनाने में भी किया जाता है।
  • रजिस्टर और कैपिसिटर के बीच फिल्टर creat करने में।
Share This Article
Leave a comment