Lok Sabha Security Breach: बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा के माध्यम से घुसपैठियों को मिला पास, जानें पूरा मामला

3 Min Read
Lok Sabha Security Breach

Lok Sabha Security Breach: लोक सभा सुरक्षा चूक को लेकर बड़ा दावा की जा रहा है कि इस घटना के आरोपियों को बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा द्वारा विजिटर पास मिला है। कुछ मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार सांसद प्रताप सिम्हा पर संसद में घुसने वाले आरोपियों को पास दिलाने का आरोप लगाया जा रहा है। प्रताप सिम्हा ने संसदीय कार्य मंत्री पहलाद जोशी के सामने अपनी ओर से सफाई जारी की है। लेकिन क्या आप जानते है आखिर कौन है बीजेपी के सांसद प्रताप सिम्हा जो इस समय चर्चा का विषय बने हुए है। 

Lok Sabha Security Breach: कौन है बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा

प्रताप सिम्हा भाजपा पार्टी के लोकसभा सांसद है जो कर्नाटक के मैसूर कोडागू लोकसभा सीट को संभाल रहे है। प्रताप सिम्हा का जन्म सन 1976 को कर्नाटक में हुआ। प्रताप पहले पत्रकारिता करते थे बाद में राजनीत में आ गए। प्रताप सन 1999 में विजय कर्नाटक में समाचार पत्र से अपने करियर की शुरुआत की उसके बाद इन्हे संपादक का दर्जा दिया गया। 

प्रताप सिम्हा सन 2014 से भाजपा में जुड़ गए। भाजपा द्वारा मैसूर की सीट पर यह बिजयी हुए और लोकसभा पहुंचे। 2019 में जनता ने इन्हे फिर से अपना नेता स्वीकार किया और यह एक बार फिर से बिजयी होकर संसद पहुंचे। प्रताप सिम्हा प्रेस काउंसिल ऑफ वर्ल्ड अफेयर के सदस्य भी रह चुके है। 

चार नही छह लोगो ने मिलकर रची थी साजिश

लोकसभा में घुसने वाले चार लोग नही पूरे छह लोग थे। जिसमे से सुरक्षा कर्मियों ने चार को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। बही अभी भी दो फरार चल रहा है। पुलिस के अनुसार इस पूरी घटना क्रम में चार लोग नही छह लोगो के सामिल होने का संदेह जताया जा रहा है। सभी आरोपी गुरुग्राम में एक घर में रहकर पूरी घटना की प्लानिंग कर रहे थे।

पकड़े गए आरोपियों में सागर शर्मा, मनोरंजन डी संसद के अंदर पकड़े गए बही अमोल शिंदे और नीलम संसद के बाहर प्रदर्शन करते पकड़ी गई थी। चारो आरोपियों को सुरक्षा कर्मियों के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है और लगातार पूछताछ जारी है। सुरक्षा एजेंजी यह जानने को कोशिश कर रही है कि कही यह किसी बड़े ग्रुप या संगठन से जुड़े तो नही है। 

इससे पहले आज के दिन ही संसद पर अंतकबादियो द्वारा हमला किया गया था जिसमे 9 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। उस समय सभी आतंकवादिओ को मौके पर ही ढेर कर दिया गया था। 

Share This Article
Leave a comment