खास जानकारी: करेला इतना कड़वा क्यों होता है, क्या आप जानते है इसके पीछे का विज्ञान

3 Min Read
karela Itna Kadva Kyo hota hai

भारत में आज छोटे या बड़े परिवार हो सभी करेला के सेवन से इतराते है। हालांकि कुछ लोगो के लिए करेला की सब्जी फैवरेट भी होती है तो कुछ इसके नाम लेने से ही चिड जाते है। करेला को भारत में सब्जी और रस के रूप में उपयोग किया जाता है। आपमें से कुछ लोगो ने करेला को सब्जी और रस का सेवन किया होगा। उसके स्वाद को आप जब भी याद करते होंगे कुछ अलग ही पाते होंगे।

करेला का रस सेहत के लिए बेहद लाभकारी होता है। लेकिन इसके कड़वे होने के कारण इसे अधिक लोग पसंद नही करते। आपको बता दे बेल पर आने वाली करेला एकमात्र ऐसी सब्जी है जो प्राकृतिक रुप से कड़वी होती है। कुछ रसोइया कहते है कि अगर करेला की सब्जी सही विधि अनुसार बनाई जाए तो यह कड़वी नही बल्कि बेहद स्वादिष्ट बनती है। जिसे खाने वाले लोग करेला के कड़वे होने का नही उसकी स्वादिष्ट सब्जी का गुणगान करेंगे। करेला की सब्जी कड़वी जरूर होती हैं लेकिन यह पेट के लिए बेहद फायदेमंद साबित होने वाली सब्जी है। 

करेला का साइज कितना होता है

करेला भारत में औसतन 4 इंच का पाया जाता है। जोकि चाइना में यह लगभग 8 इंच तक देखा गया है। करेला का साइज प्रकृति के अनुसार अलग अलग जगह पर अलग अलग पाया गया है। करेला का रंग हरा और सफेद होता है। करेला का बाहरी भाग हरा और अंदर का भाग सफेद होता है। हरा बाहरी भाग ही बेहद कड़वा पाया गया है। जिसे नमक या अन्य तरह से साफ करके कड़वापन थोड़ा कम किया जा सकता है। 

करेला कड़वा होने के साथ, सेहत के लिए फायदेमंद

करेला का स्वाद प्रकृति ने कड़वा बनाया है। लेकिन यह सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। करेला को सबसे सेहती सब्जी भी कहा जा सकता है। लोग इसका सेवन सब्जी और जूस दोनो प्रकार से करते है। आपको यह जानकर हैरानी होगी की करेला सबसे पहले भारत में नही था। यह सबसे पहले अफ्रीका में देखा गया जहां से करेला को एशिया में लाया गया। भारत में करेला को सब्जी सबसे पसंदीदा सब्जी भी है।

करेला कड़वा क्यों होता है

कुछ लोगो को अभी पता नही होगा कि करेला कड़वा क्यों होता है। करेला को सब्जी खाते सभी हैं लेकिन इसके बारे में विज्ञानिक तथ्य क्या है चलिए जान लेते है। करेला में ग्लायकोसाइड मोमोटार्सिन नाम का जहरीला तत्व पाया जाता है। जिसकी वजह से करेला एकमात्र मात्र ऐसी सब्जी है जो कड़वी होती है।

Share This Article
Leave a comment