ICC Stop Clock Rule: आईसीसी ने किया बड़ा ऐलान, इंग्लैंड वेस्टइंडीज सीरीज से शुरू हुआ स्टॉप क्लॉक नियम

3 Min Read
ICC Stop Clock Rule

ICC Stop Clock Rule: इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) की तरफ से एक नए नियम का ऐलान किया गया है। जिसे स्टॉप क्लॉक नाम दिया गया है। यह नियम गेंदबाजी टीम को और अधिक प्रभावित करेगा। आज के मॉडर्न क्रिकेट में वैसे भी गेदबाजो की खूब पिटाई होती है। अब अतरिक्त रन का बोझ उठाना भरी पड़ेगा। इस नियम के अनुसार अब दो ओवर के बीच समय निर्धारित रहेगा। निर्धारित समय में ओवर नही करने पर गेदबाजी टीम को इसका नुकसान उठाना पड़ेगा। 

इस नियम का ट्रायल इंग्लैंड बनाम बेस्टइंडीज के बीच होने वाली टी 20 मुकाबले से शुरू होगा। आइसीसी ने यह जानकारी दी गई कि यह नियम मंगलवार से इंग्लैंड बनाम बेस्ट इंडीज मुकाबले से ट्रायल के रूप में शुरू किया जायगा।

क्या है आईसीसी का स्टॉप क्लॉक नियम

इस नियम के अनुसार बोलिंग टीम को पिछला ओवर पूरा करने के 60 सेकेंड के अंदर ही अगले ओवर की पहली बॉल फेकने के लिए तैयार होना होगा। अगर फील्डिंग टीम पारी में तीन बार ऐसा करने में नाकाम रहती है तो बैटिंग टीम को 5 रन दे दिए जायेंगे। यह 5 रन बोलिंग टीम से पेनल्टी के रूप काटे जाएंगे। 

ICC Stop Clock Rule: क्या है इस नियम का उद्देश्य 

आइसीसी चाहता है कि क्रिकेट के सभी प्रारूपों में खेल की गति को आगे बढ़ाया जाए। जिससे समय अनुसार मैच के नतीजे घोषित किए जा सके। यह ट्रायल 2022 से शुरू है जिसमे पारी के आखिरी ओवर समय अनुसार नही फेकने पर पेनल्टी लगाई जाती थी। पैनल्टी के रूप में फील्डिंग टीम अंदर के घेरे से 4 खिलाड़ी ही बाहर रख सकती थी। अब इस नियम में बदलाब किया गया है। जो गलती करने पर बैटिंग टीम को रनों में इजाफा दिलाएगा। 

आईसीसी का टाइम आउट नियम

आईसीसी का टाइम आउट नियम पहले से चल रहा है। जो केवल बल्लेबाजों पर लागू होता है। आइसीसी के टाइम आउट नियम के अनुसार बल्लेबाज यदि विकेट गिरने के दो मिनट के अन्दर पहली बॉल नही खेल पाता तो उसे आउट माना जायेगा। यह नियम आईसीसी वर्ल्ड कप भारत 2023 में भी देखा गया था। जिसमे श्रीलंका के बल्लेबाज एंगलो मैथ्यूज को टाइम आउट नियम के तहत आउट दिया गया था।

Share This Article
Leave a comment